Dr Cubes Story: दो दोस्तों ने बर्फ बेचकर बनाई करोड़ों की कंपनी, पढ़िए पूरी कहानी

Dr Cubes Story: बर्फ एक ऐसी चीज है जिसका इस्तेमाल हम सभी करते हैं। चाहे हम घर पर हों, ऑफिस में हों, या किसी पार्टी में, बर्फ का इस्तेमाल कहीं न कहीं होता ही है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि बर्फ बेचकर भी करोड़ों की कंपनी बनाई जा सकती है?

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

जी हाँ, यह बात बिल्कुल सच है। और इस बात को साबित कर दिखाया है, बेंगलुरु के दो युवा उद्यमी नवीद मुन्शी और प्रमोद तिर्लपुर। इन दोनों ने साल 2017 में मिलकर Dr Cubes नाम से एक कंपनी शुरू की। यह कंपनी बर्फ, ड्राई आइस और बर्फ के ब्लॉक की supply करती है।

Dr Cubes Story

आज के बिजनेस पोस्ट में आप Dr Cubes Story के बारे में बताने वाले है कि कैसे इस कंपनी के founders ने सिर्फ बर्फ बेचकर करोड़ो की कंपनी बनाई

Table of Contents

Whatsapp Group Join
Telegram channel Join

Dr Cubes की शुरुआत

Dr Cubes एक ऐसी कंपनी है जो फ्रेश और हाइजेनिक बर्फ के टुकड़े सप्लाई करती है। इस कंपनी की शुरुआत वर्ष 2017 में दो दोस्तों, Naveed Munshi और Pramod Tirlapur ने की थी।

दोनों दोस्त एक दिन बर्फ के टुकड़ों के बारे में बात कर रहे थे। उन्हें लगा कि भारत में बर्फ के टुकड़ों का बाजार बहुत बड़ा है, लेकिन कोई भी कंपनी अच्छी और फ्रेस बर्फ के टुकड़े नहीं बेचती है। इसलिए उन्होंने एक ऐसी कंपनी शुरू करने का फैसला किया जो फ्रेश और हाइजेनिक बर्फ के टुकड़े देने का काम करती है |

Dr Cubes की शुरुआत के बाद से यह कंपनी तेजी से बढ़ी है। आज यह कंपनी भारत के कई शहरों में अपनी शुरू कर दी । Dr Cubes अपने ग्राहकों को विभिन्न प्रकार की बर्फ के टुकड़े सेल करती है, जिनमें गोल, चौकोर, और आयताकार आकार के बर्फ के टुकड़े शामिल हैं।

Shark Tank India में भी जाने का मिल चुका हैं मौका

इंडिया पोपुलर Shark Tank India Show में कई स्टार्टअप्स ने अपनी बिजनेस आइडिया की हेल्प से फंडिंग हासिल की है। लेकिन इस शो में एक स्टार्टअप ऐसे भी था जिसे फंडिंग नहीं मिली। वह स्टार्टअप है Dr Cubes, जो Ice Cubes बनाने वाली कंपनी है।

Dr Cubes के फाउंडर्स Naveed Munshi और Pramod Tirlapur ने Shark Tank India Show में 80 लाख रुपए की फंडिंग मांगी थी। इसके बदले में उन्होंने Sharks को अपनी कंपनी का 15% हिस्सा ऑफर किया था।

Sharks ने Dr Cubes के बिजनेस आइडिया की सराहना की, लेकिन उन्होंने उन्हें फंडिंग देने से मना कर दिया। Sharks का कहना था कि यह अभी एक नया बिजनेस है और इस सेक्टर में कई बड़ी कंपनियां मौजूद हैं। ये कंपनियां Dr Cubes के बिजनेस को आसानी से कॉपी कर सकती हैं।

Sharks के इस फैसले से Dr Cubes के फाउंडर्स निराश हुए। लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिए कड़ी मेहनत करने का फैसला किया।

Dr Cubes के फाउंडर्स का कहना है कि वे अपने बिजनेस को सफल बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। वे जल्द ही इस सेक्टर में एक प्रमुख खिलाड़ी बनने का लक्ष्य रखते हैं।

आज बन चुकी हैं एक करोड़ो की कंपनी

Dr Cubes ने अपने कारोबार में तेजी से विकास किया है। कंपनी ने साल 2019 में 50 लाख रुपए का रेवेन्यू बनाया था। साल 2020 में यह आंकड़ा बढ़कर 1.2 करोड़ रुपए हो गया। हालांकि, कोरोना महामारी के दौरान कंपनी का कारोबार कुछ कम हुआ, लेकिन फिर भी FY22 में कंपनी ने 1.10 करोड़ रुपए का रेवेन्यू बनाया।

साल 2023 में Dr Cubes का लक्ष्य 2.5 करोड़ रुपए का रेवेन्यू बनाना है। कंपनी को विश्वास है कि वह यह लक्ष्य आसानी से हासिल कर लेगी।

Dr Cubes ने Shark Tank India में अपनी कंपनी के बारे मे बताया था। हालांकि, शो में कंपनी को फंडिंग नहीं मिली, लेकिन कंपनी ने अपना काम जारी रखा। आज Dr Cubes एक करोड़ों की कंपनी बन चुकी है।

Dr Cubes Story Overview

Article TitleDr Cubes Story
Startup NameDr Cubes
FounderNaveed Munshi & Pramod Tirlapur
HomeplaceIndia
Revenue (FY22)Approx. ₹1.10 Crore
Official Websitehttps://drcubes.in/

हम उम्मीद करते हैं कि इस बिजनेस आर्टिकल से आपको Dr Cubes Story  की पूरी जानकारी मिल गई होगी, इस अपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर करें ताकि उन्हें भी Dr Cubes Story के बारे में सम्पूर्ण जानकारी मिल सके। ऐसे ही ओर भी Startups की कहानी पढ़ने के लिए हमारे साथ बने रहिए |

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न: Dr Cubes Story

Dr Cubes के फाउंडर कौन हैं?

Dr Cubes के फाउंडर्स Naveed Munshi और Pramod Tirlapur है |

Dr Cubes कंपनी की Official Website क्या है ?

Dr Cubes कंपनी की Official Website है – https://drcubes.in/

Dr Cubes कंपनी की वैल्यूएशन कितनी हैं?

Dr Cubes कंपनी की वैल्यूएशन लगभग 5.33 करोड़ रुपए की हैं

Leave a comment