PM Vishwakarma Kaushal Samman Yojana 2023 | पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना का ऐसे ले लाभ

PM Vishwakarma Kaushal Samman Yojana : 2023 में, भारतीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट प्रस्तुत किया, जिसमें कई महत्वपूर्ण घोषणाएं थीं। उनमें से एक घोषणा थी कि सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस पर, यानी 17 सितंबर को, एक कल्याणकारी योजना लांच करेगी

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

जो विश्वकर्मा समुदाय के लिए होगी। इस योजना का नाम ‘पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना’ है, और इसके अंतर्गत विश्वकर्मा समुदाय के लगभग 140 जातियाँ शामिल होंगी। आइए जानते हैं कि इस योजना में क्या है और सरकार का उद्देश्य क्या है। इस लेख में हम विस्तार से जानेंगे कि ‘पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना क्या है’ और ‘पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के तहत आवेदन कैसे करें’।

PM Vishwakarma Kaushal Samman Yojana 2023 (PM-Vikas)

योजना का नामपीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना
किसने घोषणा की:वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण
कब घोषणा हुईबजट 2023-24 के दौरान
कब लांच हुई17 सितम्बर, 2023 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस
उद्देश्यविश्वकर्मा समुदाय के लोगों को ट्रेनिंग और फंड देना
लाभार्थीविश्वकर्मा समुदाय के अंतर्गत आने वाली जातियां
अधिकारिक वेबसाइटhttps://pmvishwakarma.gov.in/
टोल फ्री नंबर18002677777 and 17923

PM Vishwakarma Yojana Kab Launch Hui

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना, जिसे पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के नाम से भी जाना जाता है, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी द्वारा बजट 2023-24 के दौरान 17 सितंबर को घोषित की गई है। इस योजना का उद्घाटन विश्वकर्मा जयंती के दिन किया जाने की सम्भावना है।

Whatsapp Group Join
Telegram channel Join

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना क्या है (Pradhan Mantri Vishwakarma Yojana kya hai)

इस योजना के तहत एक महत्वपूर्ण पहल की शुरुआत की गई है, जिससे भगवान विश्वकर्मा समुदाय के सदस्यों को बड़ा लाभ मिलेगा। इस योजना का नाम भगवान विश्वकर्मा के नाम पर रखा गया है।

इसके अंतर्गत, विश्वकर्मा समुदाय के वासियों को तकनीकी कौशल विकसित करने का मौका मिलेगा, उन्हें तकनीकी शिक्षा प्राप्त करने में सहायता मिलेगी, और सरकार द्वारा आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत, पारंपरिक शिल्प कारीगरों और कलाकारों के लिए एक आर्थिक सहायता पैकेज की घोषणा की गई है, जिसका उद्देश्य इस समुदाय को अधिक आर्थिक स्थिति में सुधारने में मदद करना है।

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना उद्देश्य

सरकार के अनुसार, कारीगर चाहे किसी भी क्षेत्र में, उनमें कुशलता होना आवश्यक है। कई बार कारीगरों को सही प्रकार की प्रशिक्षण नहीं मिल पाती, और वे जो अनुभवी हैं, उनके पास पर्याप्त मात्रा में पैसा नहीं होता है। ऐसे में वे न तो अपने जीवन का सार्थक उपयोग कर सकते हैं, और न ही समाज के विकास में योगदान कर सकते हैं।

इसीलिए सरकार ने विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत, उन्हें आवश्यक प्रशिक्षण भी दिया जाएगा और जिनके पास पैसा नहीं है, उन्हें सरकार के द्वारा पैसे भी उपलब्ध करवाए जाएंगे। इस प्रकार, प्रशिक्षण और वित्तीय सहायता प्राप्त करने के बाद विश्वकर्मा समुदाय से जुड़े लोग आर्थिक रूप से मजबूत होंगे और समाज और देश के विकास में योगदान करेंगे।

PM Vishwakarma Kaushal Samman Yojana Budget

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना (PM Vishwakarma Kaushal Samman Yojana) एक महत्वपूर्ण योजना है जोकि सरकार द्वारा 15,000 करोड़ रुपये के बजट के साथ शुरू की गई है। इस योजना का उद्देश्य विश्वकर्मा समुदाय के उत्कृष्ट कौशलिक प्रशासन को प्रोत्साहित करना और उन्हें बेहतर रोजगार के अवसर प्रदान करना है। इसके माध्यम से, समुदाय के युवाओं को विभिन्न कौशलों का सीखने और विकसित करने का मौका मिलेगा, जिससे उन्हें अधिक आत्मनिर्भर बनने में मदद मिलेगी।

इस प्रोजेक्ट के तहत, विभिन्न विश्वकर्मा समुदायों के सदस्यों को विभिन्न कौशलों का प्रशिक्षण दिया जाएगा, जैसे कि विश्वकर्मा शिल्प, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, और अन्य अव्यवसायिक कौशल। इसके अलावा, समुदाय के लोगों को उनके कौशल को बेहतर तरीके से विकसित करने और रोजगार के अवसरों को पहचानने में मदद की जाएगी।

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना लाभ (Benefit)

विश्वकर्मा समुदाय के लोगों के लिए एक नया रोजगार योजना का आयोजन किया गया है, जिसका उद्घाटन हाल ही में किया गया। इस योजना के तहत, विश्वकर्मा समुदाय के लोगों को विभिन्न प्रतिष्ठित व्यापारों और शिक्षा के क्षेत्र में प्रशिक्षण प्राप्त करने का मौका मिलेगा। इसके अलावा, उन्हें आर्थिक सहायता भी प्रदान की जाएगी।

  • इस योजना का फायदा विश्वकर्मा समुदाय से संबंध रखने वाली जातियों जैसे कि बधेल, बड़ीगर, बग्गा, विधानी, भरद्वाज, लोहार, बढ़ई, पंचाल, इत्यादि को प्राप्त होगा।
  • इस योजना के माध्यम से विश्वकर्मा समुदाय के लोगों को विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षण प्राप्त करने का मौका मिलेगा, जिससे उनके रोजगार की दर में बढ़ोतरी होगी और बेरोजगारी की दर कम होगी।
  • योजना के तहत विश्वकर्मा समुदाय के लोगों को प्रशिक्षण प्राप्त होने के साथ-साथ वित्तीय सहायता भी प्रदान की जाएगी, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।
  • योजना के माध्यम से देश की एक बड़ी आबादी को भी फायदा होगा, जो विश्वकर्मा समुदाय के अंतर्गत आती है |

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना विशेषताएं (Key Features)

योजना के अंतर्गत जो आर्थिक सहायता पैकेज घोषित किया गया है, उसका मुख्य उद्देश्य है उन्हें एमएसएमई मूल्य सीरीज के साथ जोड़ना | इस योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक सहायता पैकेज को असमर्थ और गरीब लोगों के साथ मिलाना है जो बैंक से जुड़ कर अपने वित्तीय स्थिति में सुधार कर सकते हैं।

बैंक से कनेक्शन :- जी के अनुसार हाथ से आइटम तैयार करने वाले लोगों को बैंक प्रमोशन के द्वारा नेशनल और इंटरनेशनल बैंक से भी कनेक्ट किया जाएगा।” – इसका मतलब है कि योजना बैंकों के साथ सहयोग करके उन लोगों को वित्तीय सेवाओं के साथ जोड़ने का प्रयास कर रही है जो हाथ से आइटम तैयार करते हैं।

कौशल प्रशिक्षण :- इस योजना के तहत कौशल प्रशिक्षण 2 तरीके से दिया जायेगा…” – योजना में कौशल प्रशिक्षण का प्रावधान किया गया है जो उम्मीदवारों को उनके कौशलों को सुधारने और उनके रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देगा।

आर्थिक सहायता :- योजना के अंतर्गत कारीगरों को उनके काम की ट्रेनिंग भी दी जाएगी और जो लोग खुद का रोजगार चालू करना चाहते हैं उन्हें सरकार आर्थिक सहायता भी देगी।” – इसका मतलब है कि योजना लोगों को उनके काम की ट्रेनिंग के साथ साथ आर्थिक सहायता भी प्रदान करेगी, ताकि वे खुद का रोजगार शुरू कर सकें।

ट्रेनिंग सर्टिफिकेट एवं आईडी कार्ड :- योजना के लाभार्थियों की पहचान के लिए उन्हें ट्रेनिंग सर्टिफिकेट एवं आईडी कार्ड भी दिया जायेगा, ताकि कोई भी गलत व्यक्ति इसका लाभ न उठा सके.” – योजना लाभार्थियों को ट्रेनिंग सर्टिफिकेट और आईडी कार्ड प्रदान करके उनकी पहचान को सुनिश्चित कर रही है।

क्रेडिट लोन :- इस योजना के तहत लाभार्थियों को कोलैटरल फ्री एंटरप्राइज डेवलपमेंट लोन भी दिया जायेगा जोकि 2 किस्तों में दिया जायेगा…” – योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को कोलैटरल फ्री एंटरप्राइज डेवलपमेंट लोन प्रदान किया जाएगा, जिससे उन्हें उनके व्यवसाय को बढ़ाने के लिए आर्थिक सहायता मिलेगी।

मार्केटिंग सपोर्ट :- इसके अलावा सरकार द्वारा मार्केटिंग सपोर्ट भी दिया जायेगा…” – योजना द्वारा नेशनल कमेटी फॉर मार्केटिंग (एनसीएम) के साथ मार्केटिंग सपोर्ट प्रदान किया जाएगा, जिससे उन्हें उनके उत्पादों को बेहतरीन तरीके से प्रमोट करने के लिए सहायता मिलेगी।

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना ट्रेनिंग में मिलने वाली राशि (Training Amount)

प्रशिक्षण के दौरान, प्रतिदिन लाभार्थियों को 500 रूपये की दिनचर्या राशि प्रदान की जाएगी। इसके साथ ही, उन्हें उनके टूलकिट की खरीददारी के लिए 15,000 रूपये की वित्तीय सहायता भी उपलब्ध की जाएगी।

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना में शामिल श्रेणी

इस योजना के तहत, बढ़ई (सुथार), नाव बनाने वाला, कवच बनाने वाला, लोहार (लोहार), हथौड़ा और टूल किट बनाने वाला, ताला बनाने वाला, सुनार (सुनार), कुम्हार (कुम्हार), मूर्तिकार (मूर्तिकार) / पत्थर तराशने वाला / पत्थर तोड़ने वाला, मोची (चर्मकार) / जूता बनाने वाला / फुटवियर कारीगर, मेसन (राजमिस्त्री), टोकरी बनाने वाला / टोकरी वेवर: चटाई बनाने वाला / कॉयर बुनकर / झाड़ू बनाने वाला, गुड़िया और खिलौना बनाने वाला (पारंपरिक), नाई (नाई), माला बनाने वाला (मालाकार), धोबी (धोबी), दर्जी ( दारज़ी) और मछली पकड़ने का जाल बनाने वाले व्यक्तियों को आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है।

पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना ब्याज छूट (Interest Rate)

इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को 5% की ब्याज में कमी दी जाएगी। हालांकि MoMSME बैंकों से लाभार्थी को 8% की ब्याज पर ही लोन का भुगतान किया जाएगा, लेकिन जितनी भी क्रेडिट गारंटी फीस होगी, उसका सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

Leave a comment