Sone ka Bhav 31 December: सोने के भाव में आया उछाल, जानिए आज की ताजा कीमतें

Sone ka bhav: सोने को एक सुरक्षित निवेश माना जाता है। इसलिए, कई लोग सोने में निवेश करना पसंद करते हैं। इसके अलावा, सोना एक बहुमूल्य धातु है और इसे आभूषण बनाने के लिए भी उपयोग किया जाता है। यदि आप सोने में निवेश करना चाहते हैं या व्यक्तिगत उपयोग के लिए सोने का आभूषण खरीदना चाहते हैं, तो खरीदारी से पहले सोने का भाव (Sone ka Bhav) जरूर जानना चाहेंगे।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

भारत में Sone ka Bhav (27 दिसंबर, 2023)

भारतीय सर्राफा बाजार में आज, 28 दिसंबर, 2023 को सोने की कीमतों में गिरावट देखने को मिली है। 999 शुद्धता वाले 24 कैरेट सोने की कीमत 62,340 रुपये प्रति 10 ग्राम है, जो कल की तुलना में 23 रुपये कम है। वहीं, 916 शुद्धता वाले 22 कैरेट सोने की कीमत 57,100 रुपये प्रति 10 ग्राम है, जो कल की तुलना में 20 रुपये कम है।

देश के प्रमुख शहरों में Sone ka Bhav इस प्रकार हैं:

Whatsapp Group Join
Telegram channel Join
शहरों के नाम24 कैरेट रेट22 कैरेट रेट
दिल्ली₹₹63,150₹57,900
मुंबई₹63,574₹57,750
बेंगलुरु₹63,574₹58,233
चेन्नई₹63,202₹57,892
कोलकाता₹63,512₹58,176
हैदराबाद₹63,947₹58,574
पुणे₹63,636₹58,290
अहमदाबाद₹63,822₹58,460
लखनऊ₹62,705₹57,437
जयपुर₹62,891₹57,607
पटना₹62,643₹57,380
चंडीगढ़₹62,457₹57,209
सूरत₹63,512₹58,176
Sone ka bhav
Sone ka bhav

देश में पिछले 10 दिनों में 24 कैरेट Sone ka Bhav

कुल मिलाकर, पिछले 10 दिनों में Sone ka bhav 61,201 रुपये प्रति 10 ग्राम से 62,415 रुपये प्रति 10 ग्राम के बीच रहा है। इसका मतलब है कि Sone ka bhav इस दौरान लगभग 1,214 रुपये प्रति 10 ग्राम बढ़ा है।

दिनभाव (प्रति 10 ग्राम)
20 दिसंबर, 2023₹62,084
19 दिसंबर, 2023₹61,902
18 दिसंबर, 2023₹62,365
17 दिसंबर, 2023₹62,365
16 दिसंबर, 2023₹62,367
15 दिसंबर, 2023₹62,396
14 दिसंबर, 2023₹61,201
13 दिसंबर, 2023₹61,277
12 दिसंबर, 2023₹61,452
11 दिसंबर, 2023₹62,415
10 दिसंबर, 2023₹62,415
Sone ka bhav
Sone ka bhav

देश में पिछले 10 दिनों में 22 कैरेट Sone ka Bhav

भारत में पिछले 10 दिनों में 22 कैरेट Sone ka rate  में उतार-चढ़ाव रहा है। 8 दिसंबर को 57,172 रुपये प्रति 10 ग्राम के उच्चतम स्तर से शुरू होकर, दाम 19 दिसंबर को 56,868 रुपये प्रति 10 ग्राम के न्यूनतम स्तर तक गिर गया। 20 दिसंबर को, Sone ka bhav 57,550 रुपये प्रति 10 ग्राम पर स्थिर है।

तारीखदाम (रुपये प्रति 10 ग्राम)
8 दिसंबर57,172
9 दिसंबर57,172
10 दिसंबर57,172
11 दिसंबर56,290
12 दिसंबर56,130
13 दिसंबर56,060
14 दिसंबर57,155
15 दिसंबर57,128
16 दिसंबर57,126
17 दिसंबर57,126
18 दिसंबर56,702
19 दिसंबर56,868
Sone ka bhav

आज के gold price जानने के लिए ये ऐप्स हैं बेस्ट

आज के gold price की जानकारी आप कई तरह से प्राप्त कर सकते हैं। आप किसी स्थानीय ज्वेलरी दुकान पर जाकर पूछ सकते हैं, या फिर किसी ऑनलाइन वेबसाइट या ऐप की मदद ले सकते हैं।

अगर आप अपने मोबाइल फोन पर ही आज के gold price की जानकारी देखना चाहते हैं, तो आप इन ऐप्स का इस्तेमाल कर सकते हैं:

  • इंडिया डेली गोल्ड सिल्वर प्राइस
  • Gold Live! Gold Price, Silver
  • डेली सिल्वर गोल्ड प्राइस इंडिया
  • इंडिया डेली गोल्ड प्राइस
  • इंडिया गोल्ड सिल्वर रेट टूडे

इन सभी ऐप्स में आपको आज के Sone ka bhav के साथ-साथ पिछले कुछ दिनों की कीमतों का भी रिकॉर्ड मिल जाएगा। इसके अलावा, कुछ ऐप्स में आपको गोल्ड की कीमतों का चार्ट भी देखने को मिल जाएगा, जिससे आपको सोने की कीमतों के उतार-चढ़ाव का अंदाजा लग जाएगा।

24 कैरेट, 22 कैरेट और 18 कैरेट गोल्ड के बीच अंतर

सोना खरीदते समय हमें अक्सर यह सवाल आता है कि कौन से कैरेट का सोना खरीदना चाहिए। कैरेट सोने की शुद्धता को मापने का एक मानक है। कैरेट जितना अधिक होगा, सोना उतना ही शुद्ध होगा।

24 कैरेट सोना – Sone ka bhav

24 कैरेट सोना शुद्ध सोना होता है। इसमें 99.9% सोना होता है। यह सोना पीले रंग का होता है और बहुत नरम होता है। इसलिए इसका उपयोग आभूषण बनाने के लिए नहीं किया जाता है। इसका उपयोग निवेश के लिए किया जाता है।

22 कैरेट सोना – Sone ka bhav

22 कैरेट सोना में 91.67% सोना होता है। बाकी 8.33% अन्य धातुओं जैसे तांबा, चांदी, जिंक आदि होते हैं। इन अन्य धातुओं के कारण यह सोना 24 कैरेट सोने की तुलना में अधिक कठोर होता है। इसलिए इसका उपयोग आभूषण बनाने के लिए किया जाता है।

18 कैरेट सोना – Sone ka bhav

18 कैरेट सोना में 75% सोना होता है। बाकी 25% अन्य धातुएं होती हैं। इन अन्य धातुओं के कारण यह सोना 22 कैरेट सोने की तुलना में अधिक सस्ता होता है। इसलिए इसका उपयोग आभूषण बनाने के लिए किया जाता है।

कैरेटशुद्धतारंगकठोरताउपयोग
2499.9%पीलानरमनिवेश
2291.67%पीलाकठोरआभूषण
1875%पीलामध्यम कठोरताआभूषण
Sone ka bhav

सोने की शुद्धता की जांच कैसे करें?

सोना एक मूल्यवान धातु है और इसे अक्सर निवेश के रूप में खरीदा जाता है। हालांकि, बाजार में नकली सोने की बिक्री भी होती है, जिससे खरीदारों को धोखा हो सकता है। इसलिए, सोना खरीदते समय उसकी शुद्धता की जांच करना जरूरी है।

हॉलमार्किंग – Sone ka bhav

सोने की शुद्धता की जांच करने का सबसे विश्वसनीय तरीका हॉलमार्किंग है। भारत में सोने की ज्वैलरी पर भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) द्वारा हॉलमार्क किया जाता है। हॉलमार्क में सोने की शुद्धता को कैरेट (K) में दर्शाया जाता है। 24K सोना सबसे शुद्ध होता है, जिसमें 99.9% सोना होता है। 22K सोना 91.6% शुद्ध होता है, और इसी तरह 18K सोना 75% शुद्ध होता है।

सोने की ज्वैलरी पर हॉलमार्क को एक विशेष चिह्न के रूप में अंकित किया जाता है। इस चिह्न में एक सर्कल होता है, जिसमें सोने की शुद्धता को दर्शाने वाला एक नंबर होता है। उदाहरण के लिए, 22K सोने की ज्वैलरी पर 22K916 लिखा होगा।

सोने में निवेश के प्रकार और कौन सा बेहतर है?

सोना एक सुरक्षित और मूल्यवान संपत्ति है जो लंबे समय में निवेशकों को अच्छा रिटर्न दे सकता है। भारत में सोने में निवेश करने के कई तरीके हैं। इनमें से प्रत्येक के अपने फायदे और नुकसान हैं।

फिजिकल गोल्ड

फिजिकल गोल्ड सोने के रूप में खरीदना सबसे पारंपरिक तरीका है। इसे आप किसी भी ज्वैलरी शॉप से खरीद सकते हैं। सोने की शुद्धता के लिए सरकार ने हॉलमार्किंग के नियमों को तय कर दिया है।

फिजिकल गोल्ड का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह आपके पास रहता है। आप इसे किसी भी समय बेच सकते हैं। हालांकि, इसे रखने और सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी आपकी होती है। इसके अलावा, इसकी कीमत में उतार-चढ़ाव हो सकता है।

डिजिटल गोल्ड

डिजिटल गोल्ड एक प्रकार का सोने का निवेश है जो फिजिकल गोल्ड के बजाय इलेक्ट्रॉनिक रूप में होता है। इसे आप मोबाइल ऐप या वेबसाइट के माध्यम से खरीद सकते हैं।

डिजिटल गोल्ड का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसे रखने की कोई जरूरत नहीं है। आप इसे किसी भी समय बेच सकते हैं। इसके अलावा, इसकी कीमत में उतार-चढ़ाव होने पर आपको फिजिकल गोल्ड की तरह कोई नुकसान नहीं होता है।

गोल्ड ईटीएफ

गोल्ड ईटीएफ एक्सचेंज ट्रेडेड फंड हैं जो सोने के अनुरूप होते हैं। इन्हें शेयरों की तरह स्टॉक एक्सचेंज पर खरीदा और बेचा जा सकता है।

गोल्ड ईटीएफ का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसे स्टोर करने की कोई जरूरत नहीं है। इसके अलावा, इसकी कीमत में उतार-चढ़ाव होने पर आपको फिजिकल गोल्ड की तरह कोई नुकसान नहीं होता है।

गोल्ड म्यूचुअल फंड

गोल्ड म्यूचुअल फंड ऐसे म्यूचुअल फंड हैं जो सोने में निवेश करते हैं। ये फंड सोने के ईटीएफ में निवेश करते हैं।

गोल्ड म्यूचुअल फंड का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इसे प्रबंधित करने की जरूरत नहीं है। इसके अलावा, इसकी कीमत में उतार-चढ़ाव होने पर आपको फिजिकल गोल्ड की तरह कोई नुकसान नहीं होता है।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड भारत सरकार द्वारा जारी किए जाने वाले बॉन्ड होते हैं जो सोने की कीमत से जुड़े होते हैं।

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह एक सुरक्षित निवेश है क्योंकि यह भारत सरकार द्वारा गारंटीकृत है। इसके अलावा, इसपर एक निश्चित ब्याज भी मिलता है।

कौन सा तरीका है बेहतर?

सोने में निवेश करने के लिए कौन सा तरीका बेहतर है यह आपके निवेश लक्ष्यों और जोखिम सहिष्णुता पर निर्भर करता है।

यदि आप सोने के भौतिक रूप को अपने पास रखना चाहते हैं और लंबे समय तक निवेश करना चाहते हैं तो फिजिकल गोल्ड एक अच्छा विकल्प है।

यदि आप सोने के भौतिक रूप को रखने की जिम्मेदारी नहीं लेना चाहते हैं और कम जोखिम लेना चाहते हैं तो डिजिटल गोल्ड, गोल्ड ईटीएफ या गोल्ड म्यूचुअल फंड एक अच्छा विकल्प है।

यदि आप सोने में निवेश करना चाहते हैं और एक निश्चित ब्याज भी प्राप्त करना चाहते हैं तो सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड एक अच्छा विकल्प है।

यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो आपको सोने में निवेश करने के लिए सही निर्णय लेने में मदद कर सकते हैं:

  • अपने निवेश लक्ष्यों को निर्धारित करें। आप सोने में कितना निवेश करना चाहते हैं और कितने समय तक निवेश करना चाहते हैं?
  • अपने जोखिम सहिष्णुता को समझें। आप कितना जोखिम ले सकते हैं?
  • विभिन्न निवेश विकल्पों के बारे में शोध करें। प्रत्येक विकल्प के फायदे और नुकसान को समझें।
  • एक वित्तीय सलाहकार से परामर्श करें। एक वित्तीय सलाहकार आपको आपके विशिष्ट परिस्थितियों के लिए सबसे अच्छा निवेश विकल्प चुनने में मदद कर सकता है।

read also – Today Gold Price: सोने के भाव में आया उतार-चढ़ाव, आज का भाव जानने के लिए क्लिक करें!

Leave a comment